नेट बैंकिंग और मोबाईल बैंकिंग मे क्या अंतर है?

नेट बैंकिंग और मोबाईल बैंकिंग मे क्या अंतर होता है बहुत लोग कंफ्यूज होते है उन्हे नही पता है यदि आपको भी नही पता है Net Banking और Mobile Banking मे अंतर क्या है तो बने रहे हमारे साथ क्योंकि आज के समय मे इन सभी चीजो के बारे मे जानकारी होना आवश्यक तभी आप बैंको द्वारा दिये जाने वाला डिजीटल सर्विस लेन-देन सेवाओ का आनंद उठा पाएगे चलिए बिना टाईम गवाये विस्तार से नेट बैंकिंग और मोबाईल बैंकिंग के विषय पर विस्तार से चर्चा करते है ताकी आपको समझने मे आसानी हो और नेट बैंकिंग और मोबाईल बैंकिंग के बीच अंतर को बेहतर ढंग से समझ पाये-


नेट बैंकिंग और मोबाईल बैंकिंग मे क्या अंतर है?
नेट बैंकिंग और मोबाईल बैंकिंग मे क्या अंतर है?



ये भी पढे- बैंक अकाउंट कितने प्रकार के होते है?

ये भी पढे- एटीएम कार्ड कितने प्रकार के होते है?


नीचे पढे इंटरनेट बैंकिंग और मोबाईल बैंकिंग के बीच क्या-क्या अंतर होता है?


सबसे प्रथम जानिए नेट बैंकिंग क्या होता है?


साधारण शब्दो मे नेट बैंकिंग की बात किया जाये तो इंटरनेट डाटा के उपयोग से किसी भी बैंक के उसके वेबसाइट पर अपने बैंक अकाउंट के लिए लाॅगिंग आईडी बनाना और अपने खाते को Access करते हुवे आनलाईन देन-देन करने की प्रकिया को Internet Banking कहा जाता है!


इंटरनेट बैंकिंग चालू कैसे किया जाता है?


सबसे प्रथम बात नेट बैंकिंग चालू करने के लिए आपका किसी भी बैंक मे खाता अवश्य रहना चाहिए तथा उस अकाउंट से मोबाईल नंबर लिंक और आपके पास डेबिट कार्ड होना आवश्यक है यदि ये सब चीज़े है तो आप उस बैंक के वेबसाइट पर जाकर अपना नेट बैंकिंग अकाउंट ओपेन खूद से कर सकते है बस Sing Up करते टाईम अकाउंट से संबंधित कुछ डिटेल देने के बाद आपका Net Banking Account तैयार हो जाएगा!


नेट बैंकिंग के फायदे


जी हां लोग किसी चीज को करने से पहले फायदा जरूर ढुढते है यदि Net Banking यूज करने के फायदे की बात किया जाये तो आप इसके फायदे के बारे मे नीचे पढ सकते है!


1- नेट बैंकिंग के उपयोग से किसी को किसी भी बैंक अकाउंट मे पैसे भेज सकते है!


2. नेट बैंकिंग के जरिए आप अपने खाते की सारी डिटेल्स मीनी स्टेटमेंट किसी भी टाईम का देख सकते है!


3. मोबाईल रीचार्ज, डीटीएच रीचार्ज, बिजली बिल, रेल हवाई मूवीज टिकट बुक जैसे विभिन्न प्रकार के पेमेंट इंटरनेट बैंकिग से कर सकते है!


4. देन-देन की स्थिति मे तुरंत के तुरंत सेकेंड मे खाते मे कितना आया कितना बैलेंस है देख सकते है!


5. खाते से दूसरा मोबाईल नंबर लिंक करने की काम हो तो खूद मिनटो मे कर सकते है बैंक जाने की जरूरत नही होता है!


6. चेक बूक अप्लाई या बंद मोबाईल बैंकिंग के जरिए आसानी से किया जाता है!


7. डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड नया लेने और बदलने की बात हो तो नेट बैंकिंग के उपयोग से अप्लाई करके घर बैठे मंगा सकते है!


8. डेबिट कार्ड गूम हो जाने पर डर होता है पैसे कोई अकाउंट से निकाल न ले लेकिन नेट बैंकिंग के इस्तेमाल से गुम हुआ कार्ड को तुरंत सेकेंड मे बंद और नया अप्लाई कर सकते है!


9. Load के लिए अप्लाई नेट बैंकिंग के उपयोग से आसानी से किया जा सकता है या ली गई लोन को भी किस्तो के जरिए पेमेंट कर सकते है!


10. Fix Deposit या Recurring Deposit जैसे अन्य Deposit खाते के लिए इंटरनेट बैंकिग के जरिए ओपेन कर सकते है!


11. आप दूनिया के कोई भी कोने से अपने बैंक अकाउंट को Access कर सकते है मतलब नेट बैंकिंग की सहायता से विभिन्न प्रकार के काम बिना बैंक गये कही से किया जा सकता है!


अब जानिए मोबाईल बैंकिंग क्या होता है?


आज के समय मे सभी बैंको का अप्लिकेशन प्लेस्टोर पर उपलब्ध मिल जाती है जिस बैंक मे अकाउंट है उस बैंक के अप्लिकेशन मोबाईल फोन मे इंस्टाॅल करने और अप्लिकेशन मे रजिस्टर करने के उपरांत मोबाईल फोन से लेन-देन की प्रक्रिया को मोबाईल बैंकिंग कहा जाता है!


मोबाईल बैंकिंग चालू कैसे करे?


मोबाईल बैंकिंग चालू कराने के लिए आपको बैंक जाने की कोई जरूरत नही है घर बैठे खूद से Mobile Banking Activate कर सकते है लेकिन याद रखे मोबाईल बैंकिंग चालू करने के लिए आपका बैंक खाता किसी भी बैंक मे अवश्य होना चाहिए तथा मोबाईल नंबर आपके बैंक अकाउंट से लिंक रहना जरूरी है साथ-साथ आपके पास उस अकाउंट का डेबिट कार्ड भी रहना आवश्यक है अब बात करे मोबाईल बैंकिंग शुरू करने की तो आपको उसी बैंक का अप्लिकेशन मोबाईल फोन मे इंस्टाॅल करने के उपरांत मोबाईल नंबर और डेबिट कार्ड की सहायता से बैंक के अप्लिकेशन मे आसानी से दो मिनट मे रजिस्टर करने के बाद आपका Mobile Banking Activate हो जाएगा!


मोबाईल बैंकिंग यूज करने के फायदे


जी हां जैसा की मैने उपर मे बताया मोबाईल बैंकिंग से आपका बैंक अकाउंट आपके पाॅकेट मे चला आता है जब चाहे कही से मोबाईल बैंकिंग के द्वारा अपने बैंक अकाउंट का इस्तेमाल कर सकते है आप नीचे समझ सकते है मोबाईल बैंकिंग से क्या क्या फायदे होते है-


1. किसी को भी किसी भी बैंक अकाउंट, वाॅलेट मे पैसे ट्रांसफर कर सकते है!


2. किसी अन्य लोगो से पैसे बैंक अकाउंट मे लेने के स्थिति मे तुरंत के तुरंत डिटेल देख सकते है आपके बैंक अकाउंट मे सामने वाला व्यक्ति पैसे भेजा या नही!


3. आपके बैंक अकाउंट से संबंधित मिनी स्टेटमेंट या पूरी डिटेल किसी भी टाईम का देख सकते है और डाउनलोड भी कर सकते है!


4. मोबाईल बैंकिंग अप्लिकेशन मे वो सारे चीज बैंक सुविधा देती है जैसे की मोबाईल रीचार्ज, डिटिएच रीचार्ज, बिजली बिल पेमेंट, टिकट बुक, एयर टिकट बुक इत्यादी का काम कर सकते है!


5. डेबिट कार्ड बदलकर नया डेबिट कार्ड लेना हो तो बिना बैंक गये मोबाईल बैंकिंग अप्लिकेशन के जरिए नया कार्ड अप्लाई मिनटो मे कर सकते है!


6. डेबिट कार्ड गूम या चोरी हो जाने के स्थिति मे डर होता है अकाउंट से पैसे गायब होने की मगर मोबाईल बैंकिंग अप्लिकेशन के इस्तेमाल से सेकेंड मे अपनी कार्ड ब्लॉक कर सकते है और नया कार्ड अप्लाई भी कर सकते है!


7. हर वक्त डेबिट कार्ड पास मे नही होता लेकीन स्मार्टफोन पास मे जरूर होता मोबाईल बैंकिंग अप्लिकेशन के इस्तेमाल से बिना एटीएम कार्ड के एटीएम मशीन से पैसे निकाल सकते है!


8. बिना बैंक गये मोबाईल बैंकिंग के जरिए चेक बुक ऑडर कर सकते है जो की सिधे आपके घर के एड्रेस पर डाक द्वारा पहुंच जाती है तथा चेक बूक सुविधा को बंंद भी करा सकते है!


9. मोबाईल बैंकिंग अप्लिकेशन के जरिए Loan अप्लाई कर सकते है साथ-साथ लिया गया लोन की स्टेटस देख सकते है!


10. Fix Deposit और Recurring Deposit जैसे खाता चालू मोबाईल बैंकिंग के जरिए कर सकते है! मतलब साफ साफ है मोबाईल बैंकिंग के जरिए विभिन्न प्रकार के काम बिना बैंक गये घर बैठे कर सकते है!


अब जानिए मोबाईल बैंकिंग और नेट बैंकिंग मे क्या अंतर होता है?


1- नेट बैंकिंग के उपयोग बैंक के वेबसाइट पर Logging Id बनाकर अपने अकाउंट को Access यूज कर सकते है मगर मोबाईल बैंकिंग के लिए बैंक के अप्लिकेशन मे रजिस्टर करने पर अकाउंट को Access यूज किया जाता है!


2- नेट बैंकिंग हमशा ब्राउजर के जरिए इस्तेमाल किया जाता है मगर मोबाईल बैंकिंग एप्लीकेशन के माध्यम से यूज किया जाता है!


3- नेट बैंकिंग मे मोबाईल रीचार्ज, डीटीएच रीचार्ज या अन्य प्रकार के किसी भी रीचार्ज का ऑप्शन अभी तक नही दिया गया है लेकिन मोबाईल बैंकिंग की बात किया जाये तो मोबाईल रीचार्ज, डिटिएच रीचार्ज, बिजली बिल पेमेंट या अन्य प्रकार के सभी रीचार्ज बिल पेमेंट की फैसिलिटी अप्लिकेशन मे उपलब्ध होता है!


4- नेट बैंकिंग इंटरनेट डाटा और ब्राउज़र के जरिए इस्तेमाल कर सकते है इसलिए इसे नेट बैंकिंग कहा जाता है तथा बैंक की अप्लिकेशन के मदद से यूज दिये जाने वाला सर्विस को बैंक की ओर से मोबाईल बैंकिंग नाम दिया गया है नेट बैंकिंग हो या मोबाईल बैंकिंग दोनो सर्विस इस्तेमाल इंटरनेट डाटा के उपयोग से ही किया जाता है!