Blog Ke Adsense Account Ko Disable Band Hone Se Kaise Bachana Chahiye

Hi आपका हमारे हिन्दी ब्लॉग पर स्वागत है यदि आप एक ब्लॉगर है तो इस आर्टिकल को जरूर पढ़े मै इस आर्टिकल मे बताने जा रहा हूँ किस तरह आप अपना ब्लॉग वेबसाइट के एडसेंस अकाउंट को डिसेबल बैन होने से बचा सकते है? दोस्तों जैसा कि आपलोग एक ब्लॉगर होगे तो आप अच्छी तरह जरूर जानते होगे एक ब्लॉग वेबसाइट के लिए गूगल ऐडसेंस अप्रूवल लेने मे कितना मेहनत लगता है तथा आपको ये भी जानकारी जरूर पता होगी लोग ब्लॉग या वेबसाइट पैसे कमाने के लिए बनाते है और ब्लॉग से पैसे कमाने के लिए गूगल एडवरटाइजिंग नेटवर्क मतलब गूगल एडसेंस का ब्लॉग से लिंक करवाने के लिए अप्रूवल लेने के लिए काफ़ी ज्यादा मेहनत करना पर जाता है मतलब साफ़ साफ़ है ब्लॉग या वेबसाइट से पैसे कमाने के लिए गूगल ऐडसेंस ही एकमात्र हथियार है एडसेंस के बिना ब्लॉग से पैसे नहीं कमा सकते है दोस्तों ज़रा सोचिये आप अगर मेहनत करके एक ब्लॉग वेबसाइट बनाते है और गूगल एडसेंस का भी ब्लॉग के लिए अप्रूवल ले लेते है उसके बाद यदि आपका एडसेंस अकाउंट डिसेबल बंद हो जाये तो कितना बड़ा दिल को झटका लगता है ये दर्द शायद वही लोग महसूस कर सकते है जिनके ब्लॉग वेबसाइट के एडसेंस अकाउंट डिसेबल बंद हो गया है दोस्तों यदि आप भी जानना चाहते है किस तरह ब्लॉग वेबसाइट का एडसेंस अकाउंट को डिसेबल बंद होने से बचाया जा सकता है तो संपूर्ण आर्टिकल जरूर पढ़े इस आर्टिकल मे बात करेगे यदि आपका ब्लॉग वेबसाइट Blogger प्लेटफॉर्म पर है या Wordpress पर दोनो प्लेटफॉर्म पर बनाई गई ब्लॉग वेबसाइट का एडसेंस अकाउंट को सुरक्षित कैसे रख सकते है इसपर विस्तार से चर्चा करेंगे तो चलिए बिनां टाईम पास किये शुरू करते किस प्रकार ब्लॉग/वेबसाइट के एडसेंस अकाउंट को डिसेबल बंद होने से बचाना चाहिए-

Blog Ke Adsense Account Ko Disable Band Hone Se Kaise Bachana Chahiye
Blog Ke Adsense Account Ko Disable Band Hone Se Kaise Bachana Chahiye




यहाँ पढ़े ब्लॉग वेबसाइट के लिए गूगल ऐडसेंस अप्रूवल मिलने के बाद क्या क्या नही करना चाहिए?

दोस्तों जैसा की आप भलीभांति जानते होगे ब्लॉग वेबसाइट के लिए गूगल ऐडसेंस का अप्रूवल लेने के लिए गूगल ऐडसेंस के पाॅलिशी रूल नियम को फाॅलो करते है तभी आपके ब्लॉग के लिए गूगल ऐडसेंस का अकाउंट मिल जाता है लेकिन कुछ नये ब्लागर गूगल एडसेंस का अप्रूवल लेने तक रूल नियम को फाॅलो जरूर करते है मगर जल्दीबाजी पैसे कमाई के चक्कर मे ये भूल जाते हैं कि गूगल ऐडसेंस का अप्रूवल लेने के बाद भी गूगल ऐडसेंस का नियम रूल को फाॅलो करना आवश्यक होता है फाॅलो नही करने के स्थिति मे गूगल आपके एडसेंस अकाउंट को डिसेबल बंद कर देता है चलिए गूगल ऐडसेंस अप्रूवल के बाद गूगल ऐडसेंस का क्या क्या रूल नियम है जानने कि कोशिश करते है आप जरूर फाॅलो करे और अपने एडसेंस को सुरक्षित रख सकते है-

1. ब्लॉग या वेबसाइट गूगल ऐडसेंस का अप्रूवल मिलने के बाद ब्लॉग पर गूगल एडसेंस का विज्ञापन चलने लगता है जैसा की आपको पता होगा विज्ञापन एड पर कोई क्लिक करता है तभी पैसे एडसेंस अकाउंट मे बनते है ऐसे मे नये ब्लागर खूद ही अपने ब्लॉग पर चल रही विज्ञापन पर क्लिक करने लगते है और दोस्तों से भी एड पर क्लिक करवाते है गूगल बहुत स्मार्ट है तुरंत जान जाता है एक ही आईपी एड्रेस से ज्यादा क्लिक हो रहे है गूगल आपका अकाउंट डिसेबल बंद कर देगा!

2. ब्लॉग वेबसाइट के लिए गूगल ऐडसेंस का अप्रूवल पाने हेतू आप खूद से आर्टिकल लिखते है और इमेज भी खूद से बना कर आर्टिकल मे प्रयोग करते है ठिक इसी प्रकार गूगल एडसेंस का अप्रूवल मिल जाने के बाद भी खूद से आर्टिकल और इमेज को बनाकर ब्लॉग वेबसाइट पर पाब्लिस करना चाहिए वरना ये भी मुख्य कारण बन सकती है आपके एडसेंस अकाउंट बंद कर दिया जा सकता है!

3. Google सभी भाषाओं के लिए गूगल ऐडसेंस का अप्रूवल नही देता जिस भाषा मे एडसेंस अप्रूवल ब्लॉग वेबसाइट के लिए मिला है उसी भासा मे आर्टिकल पाब्लिस करे!

4. जब ब्लॉग पर गूगल एडसेंस का विज्ञापन चलने लगे तो खूद से बार-बार ब्लॉग के पेज ओपेन करने पर खूद का इम्प्रेशन होने लगता है इससे बचना चाहिए ज्यादा खूद से इम्प्रेशन बनाने के स्थिति मे भी गूगल द्वारा ब्लॉग के एडसेंस अकाउंट को डिसेबल कर दिया जाता है!

5. गूगल एडवरटाइजिंग नेटवर्क सभी अन्य विज्ञापन नेटवर्क को स्पोर्ट नही करता बहुत लोग चाहते है कि ब्लॉग पर गूगल एडसेंस का विज्ञापन के साथ साथ अन्य नेटवर्क का भी विज्ञापन ब्लॉग वेबसाइट पर चलाये ऐसे मे जरूरी हो जाता है सबसे पहले अच्छी तरह पता कर ले गूगल ऐडसेंस अन्य कौन कौन सी विज्ञापन नेटवर्क को स्पोर्ट करता है तभी ब्लॉग पर गूगल विज्ञापन नेटवर्क के साथ अन्य नेटवर्क का विज्ञापन चलाये वरना गूगल ऐडसेंस का अकाउंट डिसेबल हो सकता है!

6. ब्लॉग वेबसाइट मे एडसेंस विज्ञापन को Pop Up Box के रूप मे नही रखना चाहिए गूगल ऐडसेंस पाॅलिशी के खिलाफ है, आप अगर पहली बार एक ब्लॉग या वेबसाइट बनाया है और पहली बार ही गूगल एडसेंस का अप्रूवल अकाउंट मिला है तो निश्चित ही गूगल एडसेंस पाॅलिशी के बारे मे थोड़ा-बहुत ही जानकारी होगी बेहतर होगा एक दो बार आप गूगल ऐडसेंस के प्राईवेसी पालिसी को जरूर अच्छे से पढ ले!

7. ब्लॉग या वेबसाइट दो प्लेटफॉर्म पर बनाया जाता है ब्लॉगर और वर्डप्रेस पर अगर आपका ब्लॉग/वेबसाइट वर्डप्रेस पर है तो बहुत अच्छी बात है और यदि ब्लॉग/वेबसाइट ब्लॉगर पर है तो गूगल ऐडसेंस अकाउंट को सुरक्षित रखने कि जिम्मेदारी बढ जाती है क्योकि आप एक कहावत सुनी होगी आज के समय मे टांग खींचने जलने वालो कि कमी नही है विज्ञापन एड पर कोई बार बार जानबूझकर क्लिक करने वाले लोग भी होते है ये गूगल एडसेंस पाॅलिशी के खिलाफ है अकाउंट बंद कर दिया जाता है ब्लॉगर ब्लॉग/वेबसाइट के विज्ञापन पर कोई बार बार क्लिक करता है तो आपको पता नही चलेगा कौन कहाँ से जानबूझकर क्लिक कर रहा है दूसरी तरफ वर्डप्रेस के ब्लॉग/वेबसाइट पर चल रही विज्ञापन पर कोई क्लिक करता है तो उस व्यक्ति के बारे मे जानना सकते है कौन है कहा से है आप उस व्यक्ति के खिलाफ पुलिस स्टेशन में केस दर्ज करा सकते है जेल पहूंचा सकते हो वर्डप्रेस पे बनी ब्लॉग वेबसाइट के एडसेंस अकाउंट को सुरक्षित रखना आसान भी होता है प्लागिंग के जरिए सेटिंग कर देने पर कोई व्यक्ति विज्ञापन पर एक से दो बार ही 24 घंटो मे क्लिक कर सकता है!

8. दोस्तों एक बात तो आपको समझ मे आ गई होगी एडसेंस विज्ञापन पर बार-बार क्लिक करने पर इंभैलिड क्लिक कहलाता है एडसेंस अकाउंट डिसेबल बंद हो जाता है यदि आपका ब्लॉग/वेबसाइट ब्लागर पर है ज्यादा विज्ञापन दिखाने के चक्कर मे आप एडसेंस कोड को जहां तहाँ आर्टिकल मे इधर-उधर ना रखे आप एक आॅटो एड कोड सिर्फ जेनरेट करे <Head> टैग मे लगा दे आपके ब्लॉग/वेबसाइट पर खूद गूगल एडसेंस विज्ञापन को जहां जहां जगह समझ मे आएगी वहां वहां दिखाएगा आॅटो एड का सबसे बड़ा फायदा ये भी है कि जब भी कोई जानबूझकर विज्ञापन पर बार-बार क्लिक करेगा तो आप आॅटो एड कोड को कुछ समय के लिए हटा देगे विज्ञापन बंद हो जाएगा कोड को हटाने मे आसानी भी होगी क्योंकि आॅटो एड कोड एक ही जगह पेस्ट होता है अगर आप अन्य कोड को इस्तेमाल करेगे प्रत्येक आर्टिकल टेम्पलेट के अंदर देगे तो हटाने मे मुश्किल हो सकती है शायद आप मेरी बात को समझ रहे होगे!

दोस्तों ये कुछ टिप्स है जिसको फाॅलो करेगे तो अपने एडसेंस अकाउंट को डिसेबल बंद होने से बचा सकते है और यदि आपको एडसेंस को लेकर कोई सवाल है तो कमेन्ट बॉक्स में जरुर पूछे मै आपके सवालों का जवाब देने का निश्चित प्रयास करूंगा